patna

किसमें कितना है दम: इमामगंज में …

इस विधानसभा का अधिकांश इलाका नक्सल प्रभावित है, जिसका समर्थन लेकर उदय नारायण चौधरी यहां विधायक बने थे. मुख्यमंत्री रहते जीतनराम मांझी ने भी नक्सलियों के समर्थन में काफी बातें की थी, इसलिए उन्हें इसबार नक्सलियों का समर्थन मिलने की उम्मीद है.

नक्सल प्रभावित गया जिला में दूसरे चरण में 16 अक्टूबर को मतदान होने जा रहा है, जिसके लिए सोमवार से नामांकन की प्रकिया शुरू हो गई. ऐसे में अब जिले में माला और टोपी लगाए प्रत्याशी और उनके समर्थक नजर आने लगे हैं.

वर्तमान में जिले के 10 विधानसभा सीट में चार भाजपा, पांच जदयू और एक राजद के पास है, जबकि इस चुनाव में भाजपा ने गुरूआ से विधायक सुरेन्द्र प्रसाद सिन्हा का टिकट काट दिया है. वहीं, जदयू ने अतरी विधयाक कृष्णंदन यादव, पूर्व सीएम जीतनराम मांझी की समधिन सह बाराचट्टी विधायक ज्योति देवी को टिकट नहीं दिया है. टिकारी के जदयू विधायक पहले से ही ‘हम’ से जुड़कर चुनाव मैदान में डटे हैं.

इसके साथ ही भाजपा में खुद को मुख्यमंत्री पद का दावेदार बताकर सुशील कुमार मोदी को चुनौती देने वाला पूर्व मंत्री डॉ. प्रेम कुमार सांतवी गया शहर से भाजपा के टिकट पर भाग्य आजमा रहे हैं. इसके साथ ही बेलागंज से पूर्व मंत्री और राजद के वरीष्ट नेता सुरेन्द्र यादव और सरकार के पंचायतीराज मंत्री विनोद यादव शेरघाटी विधानसभा सीट से मैदान में डटे हैं.

टिकट बंटवारे से एनडीए और महागठबंधन के स्थानीय नेताओं में काफी नराजगी है. कई पार्टी पदाधिकारी निर्दलीय और दूसरे दलों से टिकट लेकर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं जो दूसरों से ज्यादा अपनी ही पार्टी और गठबंधन के प्रत्याशी को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

Article source: http://hindi.news18.com/news/bihar/jitan-ram-manji-and-speaker-uday-narayan-chaudhary-have-tight-fight-on-imamganj-assembly-seat-760118.html

Loading...

Related posts

I-T dept serves notice to over 500 Patna property owners for non-payment of tax

Times of News

Junior doctors in Bihar’s government-run medical colleges go on strike, demand change…

Times of News

50-year-old tutor rapes 8-year-old pupil in Bihar’s Sasaram

Times of News